DRDO 2DG Covid Medicine Complete Details In Hindi Dose Side Effect Price

DRDO 2DG Covid Medicine Complete Details In Hindi Dose Side Effect Price :

आपको बता दे की 2DG में 2 डीजी अणु का एक परिवर्तित रूप है जिसमें ट्यूमर, कैंसर कोशिकाओं का इलाज होता है। क्योकि इसके ट्रायल में पता चला कि 2DG कोविड मरीजों के इलाज में कारगर है | क्योकि ये दवा हॉस्पिटल में एडमिट मरीजों की ऑक्सीजन पर निर्भरता को भी कम करती है। डीआरडीओ के द्वारा कोविड-19 रोधी दवा 2-डीजी की पहली खेप सोमवार को लॉन्च की गयी। इस दवा को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने लॉन्च किया। आपको बता दे की कोविड-19 के मध्यम लक्षण और गंभीर लक्षण वाले मरीजों पर इस दवा के आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी मिल चुकी है।

DRDO 2DG Covid Medicine

आपको बता दे की DRDO की तरफ से एंटी-कोविड दवाई बनाने का दावा किया गया था। DRDO ने कहा था की ग्लूकोज पर आधारित इस दवाई के सेवन से कोरोना ग्रस्त मरीजों को ऑक्सीजन पर ज्यादा निर्भर नहीं होना पड़ेगा। DRDO ने इस दवाई को रेड्डी लैब के साथ मिलकर बनाया है।

How to Use DRDO 2-DG Medicine (DRDO 2-DG दवाई का उपयोग कैसे करे)

How to Use DRDO 2-DG Medicine (DRDO 2-DG दवाई का उपयोग कैसे करे) : इस दवा को ORS की तरह पानी में घोलकर दिया जाएगा। दिन में दो बार मरीजों को यह दवा दी जायेगी | आपको बता दे की कोविड के मरीजों को पूरी तरह से ठीक होने के लिए पांच से सात दिन तक यह दवा लेनी पड़ेगी।

DRDO 2-DG Medicine Price in India (DRDO 2-DG दवाई की कीमत भारत में) : आपको बता दे की दवा के दाम को लेकर अब तक कुछ भी नहीं कहा गया है | सूत्रों का कहना है कि रेड्डीज लैबोरेटरी की तरफ से इसके दाम तय किए जाएंगे जो 500 से 600 रुपये तक रहने की चर्चा है।

DRDO 2-DG Medicine Efficacy (DRDO 2-DG दवाई की छमता) : यह दवा मरीजों की रिकवरी तेजी से करती है और ऑक्सीजन पर निर्भरता को भी कम कर सकती है। ऐसा पाया गया है की 42% रोगी जिन्हें प्रतिदिन इस दवा के 2 डोज देने से उनको तीसरे दिन ऑक्सीजन सपोर्ट की जरूरत नहीं पड़ी है।

DRDO 2-DG Medicine Availability (DRDO 2-DG दवाई की उपलब्धता) : आपको बता दे की दवा को सोमवार को लॉन्च किया गया है। अभी तक सिर्फ प्रमुख अस्पतालों के डॉक्टरों को उपलब्ध करवाया गया है। आगे आने वाले समय में इसे आम लोगों तक आसानी से पहुंचाने के कार्य किए जाएंगे।

अब DRDO कोरोना की दवा 2-DG (डीऑक्सी-डी-ग्लूकोज) को बनाने वाली लैब की संख्या को बढ़ाएगा | अभी तक डीआरडीओ ने अभी इस दवा के निर्माण का अधिकार हैदराबाद की डा. रेड्डीज लैब को दिया है योकि ये लेब पहले से ही कैंसर और ट्यूमर में रेडियो प्रोटेक्टर के रूप में इस्तेमाल के लिए कर रही है | आपकी जानकारी के लिए बता दे की यह दवा डीआरडीओ के इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूक्लियर मेडिसिन एंड एप्लाइड साइंस के वरिष्ठ विज्ञैनिकों ने खोजी है | यह दवा ग्लूकोज के रूप में है जो कोरोना की ऊर्जा को खत्म कर उसे निष्क्रिय कर देती है |

कैसे काम करती है डीआरडीओ की दवा 2-डीजी (How To Work DRDO Drug 2-DG)

कैसे काम करती है डीआरडीओ की दवा 2-डीजी (How To Work DRDO Drug 2-DG) : आपको बता दे की कोरोना वायरस कोशिका से चिपकी इस दवा को ग्लूकोज समझकर खाने की कोशिश करेगा, लेकिन चूंकि यह कोई ग्लूकोज नहीं है | और इस दवा को खाने से कोरोना वायरस की मौत हो जाएगी | और साथ ही साथ इस दवा से शरीर में आक्सीजन की कमी भी नहीं होगी | DRDO के मुताबिक 2-DG दवा के प्रयोग से कोरोना वायरस पर नियंत्रण से अस्पताल में भर्ती कोरोना मरीजों के स्वास्थ्य में तेजी से रिकवरी हुई है। अब DRDO की ये कोशिश है कि यह दवा देश के प्रत्येक नागरिक को आसानी से उपलब्ध हो सके। ऐसा दावा है की इस दवा के इस्तेमाल से मरीज जल्दी ठीक हो रहे हैं।

इन्हें भी पढ़े :

Daily All Latest Govt. Job Update – Click Here

Top 50 Best Attitude Whatsapp Status In Hindi English

Leave a Comment