Gopashtami Shayari Wishes Massage Hardik Shubhkamnaye in Hindi गोपाष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं शायरी विशेस

Gopashtami Shayari Wishes Massage Hardik Shubhkamnaye in Hindi गोपाष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं शायरी विशेस :– हेलों दोस्तों आज हम आपको इस पेज पर गोपाष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं देने के लिए हम आपके लिए यहाँ पर Gopashtami Shayari Wishes Massage Hardik Shubhkamnaye in Hindi Top 10 डाउनलोड कर सकतें हें | गोपाष्टमी के दिन गाय और बछड़े की पूजा की जारी हें हिन्दू धर्म में गाय को माता के सामान माना जाता हें | भारत में प्रमुख त्यौहार पर पूजा भी की जाती हें | दिवाली के समापन के बाद कार्तिक शुक्ल पक्ष की अष्ठमी को गोपाष्टमी मनाईं जाती हें | इसलिए हम आपके लिए Gopashtami Shayari Wishes gopashtami ki shubhkamnaye FB ,Whatsaap दे सकतें हें |

Gopashtami Shayari wishes SMS in Hindi Download

आप सभी इस पेज से गोपाष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं देने के लिए आप यहाँ से गोपाष्टमी शायरी विशेस मैसेज हिंदी में यहाँ से डाउनलोड कर सकतें हें | गोपाष्टमी के दिन ही पहली बार भगवान श्री कृष्ण को गाये चारण के लिए जंगल में भेजा गया था | श्री कृष्ण जी साथ साथ उनके बड़े भ्राता बलराम भी उनके साथ गाय चराने के लिए गये थे | गोपाष्टमी के दिन ही दोनों भाइयों ने गाय की सेवा और रक्षा का प्रशिक्षण दिया गया था | उस दिन से हिन्दू धर्म में गोपाष्टमी पर्व मनाया जाता हें | Gopashtami Shayari Wishes Massage Hardik Shubhkamnaye in Hindi आप यहाँ से डाउनलोड करें |

gopashtami ki shubhkamnaye

गाय का करो सम्मान
गाय है मां के समान।
गोपाष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं!

आपको और आपके परिवार को गोपाष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं!
गौ माता की पूजा पारिवारिक सुख एवं समृद्धि का मार्ग प्रशस्त करती है।
हैप्पी गोपाष्टमी!

gopashtami ki hardik shubhkamnaye

गो पूजन का पर्व सभी यह प्रणकर आज मनाएं,
भारत की पावन भूमि से कटता गोवंश बचाएं

gopashtami ki shayari

जब गाय नहीं होगी तो गोपाल कहाँ होंगे,
इस दुनिया में हम सब खुशहाल कहाँ होंगे.

gopashtami message

गोहत्यां ब्रह्महत्यां च करोति ह्यतिदेशिकीम्।
यो हि गच्छत्यगम्यां च यः स्त्रीहत्यां करोति च ॥
भिक्षुहत्यां महापापी भ्रूणहत्यां च भारते।
कुम्भीपाके वसेत्सोऽपि यावदिन्द्राश्चतुर्दश

रोम-रोम मानव का ऋणी है,
पूरा जीवन गाय ने दूध-दही-घृत दी है|

खेती के लिए भारतीय गाय का गोबर अमृत समान माना जाता था, इसी अमृत के कारण भारत भूमि सहस्त्रो वर्षों से सोना उगलती आ रही है Happy gopashtami 2020

माँ बूढ़ी हो चली भारी लगती है,
चुनाव के समय गौमाता प्यारी लगती है

gopashtami ki shubhkamnaye, gopashtami ki hardik shubhkamnaye गोपाष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं

इस पेज पर विजिट कर आप डाउनलोड कर सकते हें| 

Leave a Comment